Articles by "Navratri"

2019 4G LTE 4G VoLTE 5G 7th Pay Commission Aadhaar Actor Wallpapers Actress Wallpaper Adriana Lima AdSense Ahoi Ashtami Airtel Akshay Kumar Alcatel Alexa Rank Amazon Android Android Pie Android Q Anna university Antivirus Anushka Sharma Apple Apps Army Army App Asus Athletics Auto Auto Insurance Avengers Axis Bank Bajaj Bang Bang Reloaded Bank Battery Bhai Dooj Katha Bharti Bhumi Pednekar Big Bazaar Bing BlackBerry Blogger BlogSpot Bluetooth BoB Bollywood Boot Boxing Browser Bsnl Budget Budhvar Business buy Camera Car Car Loan Cash Celebrity CEO Chandra Grahan Channels Chhath chrome Comparisons Computer Coolpad Credit Cricket Crime Deepika Padukone Defence Detel Dhanteras Diamond Crypto Diwali DNS setting Domain Donate Doogee DTH DTH Activation DTH Installation DTH Plans in India Dusshera Earn Money Education Electronics Email Entertinment Ex-serviceman Extensions Facebook Festivals Flipkart Foldable Smartphone Food Funny Gadgets Galaxy Galaxy S8 Game Ganesh ganesh chaturthi Gionee Gmail God Google Google + Google Assistant Google Drive Google Duo Google Pixel Google Tez Google Voice Govardhan Puja GST GTA Guide Guruvar Hamraaz hamraaz app hamraaz app download hamraaz army hamraaz army app hamraaz army app download Hamraaz Army App version 6 Apk Happy New Year Hariyali Teej Hartalika Teej Harvard University HDFC Bank Headphones Health Heena Sidhu Hello App Help Hindi History Hockey Holi Katha Hollywood Home Loan Honor HostGator Hosting Hrithik Roshan HTC Huawei humraaz app iBall IBM ICICI Bank Idea India indian army app Infinix InFocus Information Infosys Instagram Insurance Intel Internet Intex Mobile iPad iPhone iPhone 8 IPL IRCTC iVoomi Janmashtami Javascript JBL Jio Jio GigaFiber JioRail JioSaavn Jokes Karbonn Kareena Kapoor Kartik Purnima Karva Chauth Karwa Chauth Kasam Tere Pyaar Ki Katrina Kaif Kendall Jenner Kimbho Kodak Kumkum Bhagya Landline Laptop Lava Lenovo LET LG Library of Congress Lifestyle Linkedin Lisa Haydon Loans Macbook Maha Shivratri Map Market Mary Kom Massachusetts Institute of Technology Meizu Messages Mi Micromax Microsoft Mobile Mokshada Ekadashi Money Motorcycles Motorola Movie Music Narendra Modi Narsingh Jayanti Nature Naukri Navratri Netflix Network News Nexus Nia Sharma Nokia Notifications OBC Ocean Office Offrs OMG OnePlus Online Opera Oppo Oreo Android Orkut OS OxygenOS Padmavati PagalWorld PAN Panasonic Passwords Patanjali Pay Payment Paypal Paytm PC PDF Pendrive Personal Loan Phone Photo PHP Pixel Plan PNB Bank PNR Poco Poster PPC Pradosh Pragya Jaiswal Prepaid Princeton University Printer Priyanka Chopra PUBG Qualcomm Quora Quotes Race 3 Railway Rambha Tritiya Vrat Realme Recruitment Redmi Relationship Religious Restore Results Review Rule Sai Dharam Tej Saina Nehwal Salman Khan Samsung Sanusha Sawan Somvar Vrat SBI Bank Script Sell SEO Serial Server Shahid Kapoor Shanivar Sharad Poornima Sharp Shiv Shreyasi Singh Shruti Haasan Sim Smart Android TV Smartphones Snapchat Social Software Somvar Sonakshi Sinha Sonam Kapoor Soney Songs Sony Xperia Space Speakers Specifications Sports Sql Stanford University State Bank of India Stickers Story Sunny Leone Surabhi Sushant Singh Rajput Swadeshi Tax Tech Technology Tecno Telugu Tiger Shroff Tiger Zinda Hai Tips Tollywood Tool Top Trending People Trading Trai TRAI Rules for cable TV Trailer Trends Truecaller Tubelight Tulsi Vivah Tv Twitter Typing Uber University of Oxford UP Board Update USB Vacancies Valentines Day Verizon Vertu Video Vijayadashami Virat Kohli Virgin Visas Vivo Vodafone VPN Vrat Katha Vrat Vidhi Wallpaper War Wayback Machine WhatsApp Wi-Fi Windows Windows 10 Wipro Wireless WordPress workstation WWE Xiaomi Xiaomi Mi 6 Yeh Hai Mohabbatein Yo Yo Honey Singh Yoga YotaPhone YouTube ZTE
Showing posts with label Navratri. Show all posts

Durga Puja begins! Seven days after Mahalaya 2018 falling on October 8, the grand celebrations of Durga Puja kicks off Sunday on October 15 with Maha Sasthi. While Sharad Navratri had started on October 10, Durga Puja celebrations in West Bengal, Bihar and other eastern parts of the country commences a bit later. But importantly, it is Durga Pujo time. People are excited about sending and receiving colourful lovely Durga Puja wishes, messages and greetings. We bring to you Durga Puja Wishes, Quotes, Sms, Messages, Status to wish on Subho Sasthi, Maha Saptami, Durga Ashtami, Maha Navami.
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Happy Durga Puja : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav

It's festival season in India yet again and celebrations are in full swing. Navratri began on October 10 and will culminate on October 19 with Vijayadashami and Dussehra. Durga Puja like many other Indian festivals represents the victory of good over evil. The nine-day festival of Navratri worships nine forms of Goddess Durga which are Maa Shailputri, Maa Brahmacharini, Maa Chandraghnta, Maa Kushmanda, Maa Skandamata, Maa Katyani, Maa Kalratri, Maa Mahagauri and Maa Siddhdatri.

India being a diverse nation, the festival is celebrated with different traditions and customs across the country. There are several legends and mythology attached to the Hindu festival. One of the prominent stories states that Goddess Parvati took the avatar of Durga Maa and killed Mahishasura after a long battle.

or Durga Puja, people extend the festival greetings to their friends and family. And as the auspicious day approaches, we have compiled a list of WhatsApp messages wishing  Shubho Pujo you can send your loved ones. People also send Durgostav greetings through SMS and Facebook statuses.

Check out Durga Puja messages below:

Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Durga Puja message : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav

May Maa Durga Bestow You and Your Family With 9 Forms of Blessings, Fame, Name, Wealth, Prosperity, Happiness, Education, Health, Power and Commitment.
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Happy Durga Puja : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Happy Durga Puja GIF
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Happy Durga Puja GIF : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
May Maa Bless You With All the Happiness in the World, May You Have the Best Durga Puja Ever.
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Durga Puja wishes : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav

On This Auspicious Occasion of Durga Puja, I Wish You Are Blessed With Prosperity and Success by Maa Durga. HAPPY DURGA PUJA
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Durga Puja greetings : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
On This Auspicious Occasion, I Wish the Colour, Bliss and Beauty, This Festival? Be With You Through the Year. Happy Durga Puja!

Durga Puja GIF
Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Durga Puja GIF : Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav

Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
Durga Puja SMS " Durga Puja Greetings: Navratri WhatsApp Messages, GIF Images, Facebook Status, Quotes & SMSes to Wish Shubho Pujo on Durgostav
May Goddess Durga Bless You With Lots of Prosperity, Happiness, Wealth and Good Fortune. May Your Durga Puja Be Full of Joy.

Some devotees also fast during the nine days obeisance to the deity and which is the symbol of the victory of good over evil. Delicious food and sweets are also a part of the festivals. On the final day of Durga Puja, people decorate their houses, wear new clothes, and pray to Durga for blessings to overcome hurdles in their life. We wish all our readers a very Happy Durga Puja!

Maha Navami marks the end of Navratri, the nine-day festival of worship of Goddess Durga. As per the mythological stories, Goddess Durga’s battle against demon Mahishasura lasted for nine long days. She finally won over the demon on the ninth day which is celebrated as Maha Navami.

According to the Hindu calendar, Maha Navami is celebrated on the navam that is ninth day of the Shukla Paksha in the Indian month of Ashwina.
Happy Durga Navami 2018 Wishes Images, Messages, SMS: We have curated wishes and greetings you can send to your friends and family wishing them a Happy Maha Navami
Happy Durga Navami 2019 Wishes Images, Messages, SMS: We have curated wishes and greetings you can send to your friends and family wishing them a Happy Maha Navami
On this day, Goddess Durga is worshipped as Saraswati, the Goddess of wisdom and knowledge. People in south India celebrate Navami as Ayudha Puja where musical instruments, books, equipment of all kinds including automobiles and machinery are decorated and worshipped. While in the east and north-east India, Navami is celebrated as the third day of Durga Puja called Shodhasopachar puja, where Goddess Durga is worshipped as Mahishasurmardini (the goddess who killed the buffalo demon Mahishasur). While in north India, Kanjak or Kanya puja is observed on the auspicious day of Navami, where young unmarried girls are honoured and worshipped.
Happy Durga Navami 2018 Wishes Images, Wallpaper, SMS, Photos, Pics, Quotes, Messages, Status: Shubo Maha Navami! Spread joy and happiness by wishing your loved ones on this auspicious occasion.
Happy Durga Navami 2018 Wishes Images, Wallpaper, SMS, Photos, Pics, Quotes, Messages, Status: Shubo Maha Navami! Spread joy and happiness by wishing your loved ones on this auspicious occasion.
Maha Navami marks the end of evil and the dawn of happiness and new beginnings. On this auspicious day, have curated wishes and greetings you can send to your friends and family wishing them a Happy Maha Navami.

*May the blessing of Maa Durga guide you on the right path and help you in all your endeavours. Warm wishes of Durga Navami to all
Happy Durga Navami 2018 Wishes Images, Wallpaper, SMS, Messages, Photos, Pics, Quotes, Status and Greetings
Happy Durga Navami 2018 Wishes Images, Wallpaper, SMS, Messages, Photos, Pics, Quotes, Status and Greetings
*Maa Durga, the universal mother is an embodiment of power. We bow to her to seek blessings on this auspicious occasion of Durga Navami. Jai Mata Di

*Durga Puja Is A Blessed Time
Rejoice In The Glories Of Maa Durga
And Celebrate All The Blessings Of Goddess
With Your Friends, Family & Acquaintances
And Loved Ones
Happy Durga Navami.

*May the goodness flow through us to the world around,
removing the evils within and without on this day of Durga Navami and ever.

*May this Navami brighten your day and night,
May it add colour to your life,
May it remove all the sorrows and worries from your life,
And give you the strength and patience to face every difficulty,
May it fill your life with lots of joy and well-being,
Have a great Maha Navami!

*This Maha Navami, I want to thank you, for being there with me all the times,
I want to thank you for holding my hands no matter how tough it was,
I want to thank you for making it more easier for me to overcome difficulties,
And I want to thank you for loving me each and every moment,
Sending you my choicest greetings this Maha Navami!

*From Sasthi to Dashami it’s time to enjoy. May Maa bless you with lots of happiness and joy. Warm Wishes on Durga Puja!

*May this auspicious day bring prosperity and joy,
The atmosphere is filled with love and happiness,
Therefore, I wish you a great Maha Navami!

माँ दुर्गा के नौ रूपों की जानकारी maa durga many forms maa durgaमाँ दुर्गा अपने 9 दिनों के नवरात्रि महोत्सव में अपने 9 रूपों के लिए जानी जाती है और दुनिया भर में अपने भक्तो द्वारा पूजी जाती है। नौ दिन की अविधि शुकल पक्ष के दिन से नौवे दिन अश्विना तक हिंदू कैलेंडर के सबसे शुभ समय माना जाता है,और इसलिए दुर्गा पूजा के रूप में वर्ष की सबसे मशहूर समय माना जाता है। नौ रूप नौ दिन तक लगातार अलग अलग पूजे जाते है। हालाकि साल में चार बार नवरात्रि आते है | जाने कब कब आते है दुर्गा के नवरात्रि

देवी दुर्गा के नौ रूप कौन कौन से है ?

प्रथम् शैल-पुत्री च, द्वितियं ब्रह्मचारिणि
तृतियं चंद्रघंटेति च चतुर्थ कूषमाण्डा
पंचम् स्कन्दमातेती, षष्टं कात्यानी च
सप्तं कालरात्रेति, अष्टं महागौरी च
नवमं सिद्धिदात्री

शैलपुत्री ( पर्वत की बेटी )
वह पर्वत हिमालय की बेटी है और नौ दुर्गा में पहली रूप है । पिछले जन्म में वह राजा दक्ष की पुत्री थी। इस जन्म में उसका नाम सती-भवानी था और भगवान शिव की पत्नी । एक बार दक्षा ने भगवान शिव को आमंत्रित किए बिना एक बड़े यज्ञ का आयोजन किया था देवी सती वहा पहुँच गयी और तर्क करने लगी। उनके पिता ने उनके पति (भगवान शिव) का अपमान जारी रखा था ,सती भगवान् का अपमान सहन नहीं कर पाती और अपने आप को यज्ञ की आग में भस्म कर दी | दूसरे जन्म वह हिमालय की बेटी पार्वती- हेमावती के रूप में जन्म लेती है और भगवान शिव से विवाह करती है।

भ्रमाचारिणी (माँ दुर्गा का शांति पूर्ण रूप)
दूसरी उपस्तिथि नौ दुर्गा में माँ ब्रह्माचारिणी की है। " ब्रह्मा " शब्द उनके लिए लिया जाता है जो कठोर भक्ति करते है और अपने दिमाग और दिल को संतुलन में रख कर भगवान को खुश करते है । यहाँ ब्रह्मा का अर्थ है "तप" । माँ ब्रह्मचारिणी की मूर्ति बहुत ही सुन्दर है। उनके दाहिने हाथ में गुलाब और बाएं हाथ में पवित्र पानी के बर्तन ( कमंडल ) है। वह पूर्ण उत्साह से भरी हुई है । उन्होंने तपस्या क्यों की उसपर एक कहानी है | 
पार्वती हिमवान की बेटी थी। एक दिन वह अपने दोस्तों के साथ खेल में व्यस्त थी नारद मुनि उनके पास आये और भविष्यवाणी की "तुम्हरी शादी एक नग्न भयानक भोलेनाथ से होगी और उन्होंने उसे सती की कहानी भी सुनाई। नारद मुनि ने उनसे यह भी कहा उन्हें भोलेनाथ के लिए कठोर तपस्या भी करनी पढ़ेगी। इसीलिए माँ पार्वती ने अपनी माँ मेनका से कहा की वह शम्भू (भोलेनाथ ) से ही शादी करेगी नहीं तोह वह अविवाहित रहेगी। यह बोलकर वह जंगल में तपस्या निरीक्षण करने के लिए चली गयी। इसीलिए उन्हें तपचारिणी ब्रह्मचारिणी कहा जाता है।

चंद्रघंटा ( माँ का गुस्से का रूप )
तीसरी शक्ति का नाम है चंद्रघंटा जिनके सर पर आधा चन्द्र (चाँद ) और बजती घंटी है। वह शेर पर बैठी संगर्ष के लिए तैयार रहती है। उनके माथे में एक आधा परिपत्र चाँद ( चंद्र ) है। वह आकर्षक और चमकदार है । वह ३ आँखों और दस हाथों में दस हतियार पकडे रहती है और उनका रंग गोल्डन है। वह हिम्मत की अभूतपूर्व छवि है। उनकी घंटी की भयानक ध्वनि सभी राक्षसों और प्रतिद्वंद्वियों को डरा देती है ।

कुष्मांडा ( माँ का ख़ुशी भरा रूप )
माँ के चौथे रूप का नाम है कुष्मांडा। " कु" मतलब थोड़ा "शं " मतलब गरम "अंडा " मतलब अंडा। यहाँ अंडा का मतलब है ब्रह्मांडीय अंडा । वह ब्रह्मांड की निर्माता के रूप में जानी जाती है जो उनके प्रकाश के फैलने से निर्माण होता है। वह सूर्य की तरह सभी दस दिशाओं में चमकती रहती है। उनके पास आठ हाथ है ,साथ प्रकार के हतियार उनके हाथ में चमकते रहते है। उनके दाहिने हाथ में माला होती है और वह शेर की सवारी करती है।

स्कंदमाता ( माँ के आशीर्वाद का रूप )
देवी दुर्गा का पांचवा रूप है " स्कंद माता ", हिमालय की पुत्री , उन्होंने भगवान शिव के साथ शादी कर ली थी । उनका एक बेटा था जिसका नाम "स्कन्दा " था स्कन्दा देवताओं की सेना का प्रमुख था । स्कंदमाता आग की देवी है। स्कन्दा उनकी गोद में बैठा रहता है। उनकी तीन आँख और चार हाथ है। वह सफ़ेद रंग की है। वह कमल पैर बैठी रहती है और उनके दोनों हाथों में कमल रहता है।
कात्यायनी ( माँ दुर्गा की बेटी जैसी )

माँ दुर्गा का छठा रूप है कात्यायनी। एक बार एक महान संत जिनका नाम कता था , जो अपने समय में बहुत प्रसिद्ध थे ,उन्होंने देवी माँ की कृपा प्राप्त करने के लिए लंबे समय तक तपस्या करनी पढ़ी ,उन्होंने एक देवी के रूप में एक बेटी की आशा व्यक्त की थी। उनकी इच्छा के अनुसार माँ ने उनकी इच्छा को पूरा किया और माँ कात्यानी का जन्म कता के पास हुआ माँ दुर्गा के रूप में।

कालरात्रि ( माँ का भयंकर रूप )
माँ दुर्गा का सातवाँ रूप है कालरात्रि। वह काली रात की तरह है, उनके बाल बिखरे होते है, वह चमकीले भूषण पहनती है। उनकी तीन उज्जवल ऑंखें है ,हजारो आग की लपटे निकलती है जब वह सांस लेती है। वह शावा (मृत शरीर ) पे सावरी करती है,उनके दाहिने हाथ में उस्तरा तेज तलवार है। उनका निचला हाथ आशीर्वाद के लिए है। । जलती हुई मशाल ( मशाल ) उसके बाएं हाथ में है और उनके निचले बाएं हाथ में वह उनके भक्तों को निडर बनाती है। उन्हें "शुभकुमारी" भी कहा जाता है जिसका मतलब है जो हमेश अच्छा करती है।

महागौरी ( माँ पार्वती का रूप और पवित्रता का स्वरुप )
आठवीं दुर्गा " महा गौरी है।" वह एक शंख , चंद्रमा और जैस्मीन के रूप सी सफेद है, वह आठ साल की है,उनके गहने और वस्त्र सफ़ेद और साफ़ होते है। उनकी तीन आँखें है ,उनकी सवारी बैल है ,उनके चार हाथ है। उनके निचले बाय हाथ की मुद्रा निडर है ,ऊपर के बाएं हाथ में " त्रिशूल " है ,ऊपर के दाहिने हाथ डफ है और निचला दाहिना हाथ आशीर्वाद शैली में है।वह शांत और शांतिपूर्ण है और शांतिपूर्ण शैली में मौजूद है. यह कहा जाता है जब माँ गौरी का शरीर गन्दा हो गया था धुल के वजह से और पृत्वी भी गन्दी हो गयी थी जब भगवान शिव ने गंगा के जल से उसे साफ़ किया था। तब उनका शरीर बिजली की तरह उज्ज्वल बन गया.इसीलिए उन्हें महागौरी कहा जाता है । यह भी कहा जाता है जो भी महा गौरी की पूजा करता है उसके वर्तमान ,अतीत और भविष्य के पाप धुल जाते है।

सिद्धिदात्री (माँ का ज्ञानी रूप )
माँ का नौवा रूप है " सिद्धिदात्री " ,आठ सिद्धिः है ,जो है अनिमा ,महिमा ,गरिमा ,लघिमा ,प्राप्ति ,प्राकाम्य ,लिषित्वा और वशित्व। माँ शक्ति यह सभी सिद्धिः देती है। उनके पास कई अदबुध शक्तिया है ,यह कहा जाता है "देवीपुराण" में भगवान शिव को यह सब सिद्धिः मिली है महाशक्ति की पूजा करने से। उनकी कृतज्ञता के साथ शिव का आधा शरीर देवी का बन गया था और वह " अर्धनारीश्वर " के नाम से प्रसिद्ध हो गए। माँ सिद्धिदात्री की सवारी शेर है ,उनके चार हाथ है और वह प्रसन्न लगती है। दुर्गा का यह रूप सबसे अच्छा धार्मिक संपत्ति प्राप्त करने के लिए सभी देवताओं , ऋषियों मुनीस , सिद्ध , योगियों , संतों और श्रद्धालुओं के द्वारा पूजा जाता है।

देवी माँ दुर्गा की पूजा से सभी देवता खुश maa durga all god worshipped
सिर्फ आदि शक्ति दुर्गा माँ की पूजा अर्चना से ही खुश हो जाते है समस्त देवी देवता :

यह प्रसंग हम लाये है दुर्गा सप्तशती पाठ से जिसमे बताया गया है की तीनो लोको के कल्याण के लिए किस तरह देवी दुर्गा माँ का अवतरण हुआ है और क्यों देवी माँ दुर्गा की ही आराधना से सभी मुख्य देवी देवताओ का आशीष साधक को प्राप्त होता है |

देवताओ की वेदना पर त्रिदेव और देवताओ के तेज से भगवती का अवतार :
दुर्गा सप्तशती के दुसरे अध्याय से जब दानव राज महिषासुर ने अपने राक्षसी सेना के साथ देवताओ पर सैकड़ो साल चले युद्ध में विजय प्राप्त कर ली और स्वर्ग का राजाधिराज बन चूका था | सभी देवता स्वर्ग से निकाले जा चुके थे | वे सभी त्रिदेव (बह्रमा विष्णु और महेश) के पास जाकर अपने दुखद वेदना सुनाते है | पूरा वर्तांत सुनकर त्रिदेव बड़े क्रोधित होते है और उनके मुख मंडल से एक तेज निकलता है जो एक सुन्दर देवी में परिवर्तित हो जाता है | भगवान शिव के तेज से देवी का मुख , यमराज के तेज से सर के बाल , श्री विष्णु के तेज से बलशाली भुजाये , चंद्रमा के तेज से स्तन , धरती के तेज से नितम्ब , इंद्र के तेज से मध्य भाग , वायु से कान , संध्या के तेज से भोहै, कुबेर के तेज से नासिका , अग्नि के तेज से तीनो नेत्र |

देवताओ द्वारा शक्ति का संचार देवी दुर्गा में :
शिवजी ने देवी को अपना शूल , विष्णु से अपना चक्र , वरुण से अपना शंख , वायु ने धनुष और बाण , अग्नि ने शक्ति , बह्रमा ने कमण्डलु , इंद्र ने वज्र, हिमालय ने सवारी के लिए सिंह , कुबेर ने मधुपान , विश्वकर्मा में फरसा और ना मुरझाने वाले कमल भेट किये , और इस तरह सभी देवताओ ने माँ भगवती में अपनी अपनी शक्तिया प्रदान की | 
इन सभी देवताओ के तेज से देवी दुर्गा में रूप के साथ साथ शारीरिक और मानसिक शक्ति का भी संचार होता है | देवता ऐसी महाशक्ति महामाया को देखकर पूरी तरह आशावान हो जाते है की महिषासुर का काल अब निकट है और देवताओ का फिर से स्वर्ग पर राज होगा | 
माँ दुर्गा ने महिषासुर और उसकी सम्पूर्ण सेना का वध करके देवताओ को फिर से स्वर्ग दिला दिया | माँ के जय जयकार तीनो लोको में हुई | 

तब से जो भी व्यक्ति सच्चे मन से माँ दुर्गा की आराधना करता है उसे सभी देवताओ का आशीष मिलता है | माँ दुर्गा के नव रूप की पूजा के लिए नवरात्रि त्यौहार मनाया जाता है | घर घर में कलश स्थापना की जाती है और रात्रि में माँ दुर्गा का जागरण किया जाता है |

नवरात्रि क्या है और महत्व maa durga navratri festivalमाँ दुर्गा की महिमा और नवरात्रि त्यौहार
इस जगत में माँ की महिमा अपरम्पार है , माँ के प्यार की ,त्याग की कोई तुलना नहीं की जा सकती और जब इस अनमोल रूप में दैविक शक्ति का वाश हो जाये ममता के साथ साथ आशीष स्नेह प्राप्त करके मनुष्य का जीवन सार्थक हो जाता है | अत: हिन्दू धर्म में सभी देवी माँ अपने भक्तो के लिए करुणामई और सुखो का संचार करने वाली है |

माँ की महिमा का गुणगान करने का पर्व है नवरात्रे :
आदिशक्ति दुर्गा की पूजा, आराधना, साधना और उनमे समर्पण का पर्व नवरात्रे कहलाता है जिसमे माँ दुर्गा के 9 रूप का 9 दिन तक गुणगान और भक्ति की जाती है | 
पुराणों में मान्यता है की सबसे पहले भगवान श्री राम ने लंका विजय के ठीक १० दिन पूर्व इन शारदीय नवरात्रों में माँ भगवती की पूजा अर्चना की थी तभी से यह सनातन धर्म का मुख्य पर्व बन चूका है | इन नवरात्रों को आदि शक्ति को समर्पण करते हुए जो भी भक्त इनमे साधना करता है वह दसो महाविद्याओं की प्राप्ति कर सकता है | माँ उसका पग पग पर कल्याण करती है | भगवती के आशीष से कर्म , ज्ञान और भक्ति के पथ पर आनंद की प्राप्ति करता है | इनकी कृपा और आराधना से मनुष्यों को स्वर्ग और अपुनरावर्ती मोक्ष प्रदान होता है | रात्रि में माँ दुर्गा का जगराता या जागरण से अम्बिका को रिझाया जाता है |
चैत्र माह 2017 के नवरात्रि
चैत्र माह में आने वाले माँ दुर्गा के नवरात्रि को वसंत नवरात्रि भी कहते है | इस साल 2017 में यह 28 March से 5 April तक के नो दिन है | भगवान श्री राम का जन्मोत्सव ४ अप्रैल ( मंगलवार ) को है | नवरात्रि के घट स्थापना के साथ हिन्दू नव वर्ष की शुरुआत होती है | हिन्दू नव वर्ष के शुरू के नो दिन माँ दुर्गा की भक्ति में लगाये जाते है |

नवरात्रि में कलश या घट स्थापना और पूजन navratri kalash sthapnaपावन पर्व नवरात्रो में दुर्गा माँ के नव रूपों की पूजा नौ दिनों तक चलती हैं| नवरात्र के आरंभ में प्रतिपदा तिथि को उत्तम मुहर्त में कलश या घट की स्थापना की जाती है। कलश को भगवान गणेश का रूप माना जाता है जो की किसी भी पूजा में सबसे पहले पूजनीय है इसलिए सर्वप्रथम घट रूप में गणेश जी को बैठाया जाता है |

कलश स्थापना और पूजन के लिए महत्त्वपूर्ण वस्तुएं
  • मिट्टी का पात्र और जौ के ११ या २१ दाने
  • शुद्ध साफ की हुई मिट्टी जिसमे पत्थर नहीं हो
  • शुद्ध जल से भरा हुआ मिट्टी , सोना, चांदी, तांबा या पीतल का कलश
  • मोली (लाल सूत्र)
  • अशोक या आम के 5 पत्ते
  • कलश को ढकने के लिए मिट्टी का ढक्कन
  • साबुत चावल
  • एक पानी वाला नारियल
  • पूजा में काम आने वाली सुपारी
  • कलश में रखने के लिए सिक्के
  • लाल कपड़ा या चुनरी
  • मिठाई
  • लाल गुलाब के फूलो की माला

नवरात्र कलश स्थापना की विधि
महर्षि वेद व्यास से द्वारा भविष्य पुराण में बताया गया है की कलश स्थापना के लिए सबसे पहले पूजा स्थल को अच्छे से शुद्ध किया जाना चाहिए। उसके उपरान्त एक लकड़ी का पाटे पर लाल कपडा बिछाकर उसपर थोड़े चावल गणेश भगवान को याद करते हुए रख देने चाहिए | फिर जिस कलश को स्थापित करना है उसमे मिट्टी भर के और पानी डाल कर उसमे जौ बो देना चाहिए | इसी कलश पर रोली से स्वास्तिक और ॐ बनाकर कलश के मुख पर मोली से रक्षा सूत्र बांध दे | कलश में सुपारी, सिक्का डालकर आम या अशोक के पत्ते रख दे और फिर कलश के मुख को ढक्कन से ढक दे। ढक्कन को चावल से भर दे। पास में ही एक नारियल जिसे लाल मैया की चुनरी से लपेटकर रक्षा सूत्र से बांध देना चाहिए। इस नारियल को कलश के ढक्कन रखे और सभी देवी देवताओं का आवाहन करे । अंत में दीपक जलाकर कलश की पूजा करे । अंत में कलश पर फूल और मिठाइयां चढ़ा दे | अब हर दिन नवरात्रों में इस कलश की पूजा करे |

विशेष ध्यान देने योग्य बात :
जो कलश आप स्थापित कर रहे है वह मिट्टी, तांबा, पीतल , सोना ,या चांदी का होना चाहिए। भूल से भी लोहे या स्टील के कलश का प्रयोग नहीं करे ।

नवरात्रि में क्या करे क्या ना करे maa durga navratri what to doकैसे और किसने शुरू किये नवरात्रे :
माँ भगवती की 9 दिनों के नवरात्रों में पूजा सनातन काल से चला आ रहा है | सर्वप्रथम श्रीरामचंद्रजी ने इस शारदीय नवरात्रि पूजा का प्रारंभ समुद्र तट पर किया था और उसके बाद दसवें दिन लंका में रावण पर विजय प्राप्त की। तब से ही असत्य पर सत्य की जीत और अधर्म पर, धर्म की जीत का त्यौहार दशहरा मनाया जाने लगा।
नवरात्रि के प्रत्येक दिन 9 अलग अलग माँ के रूपों की पूजा की जाती है | इस 9 दिनों में पवित्रता और शुद्धि का विशेष ध्यान रखा जाता है | इन नियमो का पालन और विधिपूर्वक की गयी पूजा से माँ दुर्गा की कृपा से साधनाएं और मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। घर में सकारात्मक उर्जा का संचार होता है और नकारात्मक उर्जा ख़त्म होती है |
नवरात्र में क्या करें -
  • जितना हो सके लाल रंग के आसन पुष्प वस्त्र का प्रयोग करे क्योकि लाल रंग माँ को सर्वोपरी है |
  • सुबह और शाम मां के मंदिर में या अपने घर के मंदिर में दीपक प्रज्जवलित करें। संभव हो तो वहीं बैठकर मां का पाठ करें दुर्गा सप्तसती और दुर्गा चालीसा पढ़े ।
  • हर दिन माँ की आरती का थाल सजा कर आरती करे ।
  • मां को हर दिन पुष्प माला चढाएं।
  • नौ दिन तन और मन से उपवास रखें।
  • अष्टमी-नवमीं पर विधि विधान से कंजक पूजन करें और उनसे आशीर्वाद जरूर लें।
  • घर पर आई किसी भी कन्या को खाली हाथ विदा न करें।
  • नवरात्र काल में माँ दुर्गा के नाम की ज्योति अवश्य जलाए। अखण्ड ज्योत जला सकते है तो उतम है। अन्यथा सुबह शाम ज्योत अवश्य जलाए।
  • ब्रमचर्य व्रत का पालन करें। संभव हो तो जमीन पर शयन करें ।
  • नवरात्र काल में नव कन्याओं को अन्तिम नवरात्र में घर बुलाकर भोजन अवश्य कराए। नवरात्रि में नव कन्याओ का पूजन करे और आवभगत करे ।
नवरात्रि में कौनसे काम ना करें
जहां तक संभव हो नौ दिन उपवास करें। अगर संभव न हो तो लहसुन-प्याज का सेवन न करें। यह तामसिक भोजन की श्रेणी में आता है।

कैंची का प्रयोग जहां तक हो सके कम से कम करें। दाढी, नाखून व बाल काटना नौ दिन तक बंद रखें।
निंदा, चुगली, लोभ असत्य त्याग कर हर समय मां का गुनगाण करते रहें।
मां के मंदिर में अन्न वाला भोग प्रसाद अर्पित न करे ।

MsnTarGet.com

Satish Kumar

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.